चंदनकियारी : पावर ग्रिड बरमसिया के प्रबंधन के तानाशाही के कारण गार्ड डॉक्टर महतो की हुई मौत, ग्रामिणों ने दी धरना।

0

SR PRIME NEWS चंदनकियारी : बरमसिया पावर ग्रिड में चंदनकियारी प्रखण्ड के रोहनीगाढ़ा निवासी 34 वर्षिय डॉक्टर महतो गार्ड में कार्यरत थे। प्रबंधन और अधिकारियों ने गार्ड कार्य के अलावे बिजली का कार्य करने के लिए दबाव बनाया। डॉक्टर महतो असमर्थता जहिर करने पर प्रबंधक एंव अधिकारियों ने गार्ड के कार्य से निकालने कि धमकी से बजली का कार्य करने के लिए बाध्य हुए। जिसे 9 अगस्त को गार्ड के अलावे बिजली का कार्य करने पर डॉक्टर महतो को बिजली का करंंट लगने से झुलस गए। जिसके बाद आनन फानन में साइड इंचार्ज धनेश्वर महतो इलाज के लिए बोकारों जनरल अस्पताल ले गए। बोकारो जेनरल अस्पताल में भर्ती डॉक्टर महतो का 16 अगस्त को मृत्यु हो गई। मृत्यु का खबर से ग्रामिणों ने प्रबंधक के समक्ष परिजनों को नियोजन व मुआवजा की मांग की। किन्तु प्रबंधक तथा अधिकिरियों ने किसी तरह का संज्ञान नही लेने से बाध्य होकर ग्रामिणों ने माँगो को लेकर धरना पर बैठे गए। मृतक का शव अस्पताल के मर्चरी में रखा है और तीन दिन बित जाने के बाद भी किसी ने किसी तरह साकारात्मक पहल नहीं किया। जब तक मृतक के परिजनों को नियोजन व मुआवजा मुहैया नहीं होता है तब तक धरना जारी रहेगा। धरना में मृतक के पत्नी बुधुना देवी के आलावे ग्रामिणों के साथ पुर्व विधायक उमाकांत रजक, जगन्नाथ रजवार, शिबु महतो, कुमुद महतो, दिलीप ओझा, बीस सुत्री प्रखण्ड अध्यक्ष सृष्टिधर रजवार, साधु चरण महतो, वशिष्ठ सिंह चौधरी, रामु महतो, पटल महतो, विजय रजवार, हुबलाल रजवार, लालमोहन कुमार, कालाचाँद महतो, राकेश महतो सहित सैंकड़ो ग्रामीण शामिल हुए।

बोकारों संवाददाता गौर हरि महतो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here